मोहाली

खरड़ पुलिस की अनदेखी से कत्ल केस के गवाह की जान पड़ी खतरे में।

खरड़ पुलिस की अनदेखी से कत्ल केस के गवाह की जान पड़ी खतरे में।

कत्ल केस में गवाह के घर पर आ कर दी धमकियां लेकिन पुलिस पहंची 5 घण्टे बाद ।

मोहाली/ खरड़: 4 सितम्बर 2019 को गैंगस्टर विकास मोर दुवारा चंडीगढ़ सैक्टर 17 पुरानी कोर्ट के सामने तजिंदर माली को गोली मार कत्ल कर दिया गया था इस केस में मोहाली निवासी इंसाफ एक्सप्रेस समाचारपत्र के संपादक रोहित कुमार चश्मदीद गवाह और शिकायत करता हैं।पिछले कई महीनों से रोहित कुमार को जान से मारने की धमकियां मिल रही हैं जिस के बारे में रोहित कुमार ने स्थानीय थाने और चंडीगढ़ पुलिस को सूचना दी थी । इस बारे रोहित कुमार ने बताया कि मोहाली पुलिस दुवारा किसी भी तरह की कोई सुरक्षा नहीं दी गई और न ही किसी किसी पुलिस अधिकारी ने उन से सम्पर्क किया।रोहित कुमार ने बताया कि इस के बाद कुछ दिन पहले बॉक्सर गैंग का सदस्य उस के घर आया और विकास बॉक्सर के खिलाफ गावहि मत दो वर्ना अंजाम ठीक नहीं होगा।रोहित ने बताया कि इस के बारे में भी खरड़ पुलिस को शिकायत दी गई लेकिन कोई कार्यवाही नही हुई जिस के बाद चंडीगढ़ पुलिस ने मुझे सुरक्षा प्रदान कर दी ।रोहित कुमार ने बताया कि बीती रात उस के घर पर कोई स्प्लेंडर मोटरसाइकिल पर कोई वयक्ति आया और उस ने धमकियां दी और चला गया रोहित कुमार ने बताया कि उस समय वह अपने घर पर नहीं था ।रोहित कुमार ने बताया कि यह बात रात को लगभग 9 बजे की है ।रोहित कुमार ने बताया कि घर पहूंचने से पहले ही उन के सुरक्षा कर्मी रविंदर ने अपने फ़ोन से 100 नंबर पर इस घटना की सूचना दी लेकिन पुलिस वाले पहले तो अपना एरिया न होने की बात करते रहे फिर ऑफ डयूटी का राग अलापने लगे उस के बाद लगभग रात 1 बजे 2 पुलिस कर्मचारी आये और जब उन से देर से आने का कारण पूछा तो उन्हों ने कहा कि वो तो एस, एच,ओ खरड़ सदर के ड्राइवर हैं।उन को तो ऐसी कोई सूचना नहीं मिली कि यहां किसी ने धमकी दी है हमें तो सिर्फ यह कहा गया था कि गली में घूम कर आ जाओ। रोहित कुमार पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा कि क्या यही मोहाली पुलिस का काम है कि घटना के 5 घण्टे बाद आ कर चले जाएं । रोहित कुमार का कहना है कि वो अपनी गावहि से पीछे नहीं हटेगा लेकिन यह भी कहा कि जितना भी हो सके पुलिस का साथ नहीं देना चाहिए क्योंकि पुलिस की ही मिलीभगत या अनदेखी की वजह से या तो कत्ल केसों में मार दिया जाता है या गावहि देने से पीछे हट जाते हैं। रोहित कुमार ने कहा कि इन दोनों घटनाओं का सी,सी,टी,वी फुटेज उन के पास है लेकिन मोहाली पुलिस की तरफ से कोई कार्यवाही न करना सन्देह पैदा कर रहा है कि कहीं कोई पुलिस वाला ही उन की मौत का कारण न बन जाए क्यों दोनों बार शिकायत देने के बावजूद किसी पुलिस कर्मी या अधिकारी ने उन से सम्पर्क नहीं साधा। रोहित कुमार ने कहा कि अपनी सुरक्षा को ले कर कई बार वह एस, एस, पी मोहाली को अपनी सुरक्षा के लिए गोहार लगाते रहे लेकिन उन्होंने ने हमेशा ही मुझे चंडीगढ़ पुलिस के पास जाने की नसीहत दे डाली । रोहित कुमार ने कहा कि मुझे पुलिस सुरक्षा की ज़रूरत नहीं है लेकिन पुलिस की ऐसी अनदेखी और लापरवाही से यह तो साबित हो गया कि मोहाली पुलिस का पूरा सिस्टम ही खराब और सड़ चुका है उन्हों ने कहा कि मुझे नहीं पता के मेरी गावहि से गैंगस्टर को सज़ा होती या उस को बैल मिलती है लेकिन एक बात की सीख ज़रूर मिलती है कि पुलिस का साथ कभी नहीं देना चाहिए ।

विडियो देखे- 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close