चंडीगढ़

सिटी हीरो / हाथ काटने के बाद निहंग ने एएसआई की छाती में मारने के लिए तलवार उठाई तो मैंने पीछे से ईंट मारी

पटियाला. रविवार को पटियाला-सनौर रोड पर सब्जी मंडी में कथित निहंगों द्वारा पुलिस पर हुए हमले की वीडियो दुनियाभर में वायरल हो चुकी है। इस वीडियो में एक व्यक्ति एएसआई हरजीत सिंह का कटा हाथ उठाकर भागता आ रहा है और उस कटे हाथ को घायल एएसआई हरजीत के हाथ में सौंपता है। दैनिक भास्कर की टीम ने सोमवार को इस दिलेर व्यक्ति को ढूंढ लिया। यह प्रवासी मजदूर शंकर है, जो पटियाला में 20 साल से सब्जी बेचने का काम करता है। रोज की तरह शंकर सुबह 6 बजे बड़ी मंडी में सब्जी लेने गया था।

उसकी जुबानी ही सुनिए उसकी दिलेरी की वो दास्तां जिसने आज न सिर्फ एएसआई हरजीत सिंह का कटा हाथ उसे दोबारा मिल गया, बल्कि उसकी जिंदगी भी बच गई।

मैं सुबह 6 बजे अपना ऑटो लेकर सब्जी मंडी में दाखिल होने वाली व्हीकल्स की लाइन में लगा था, मेरा नंबर अंदर जाने के लिए मेन गेट के पास लगा ही था कि अंदर से एक तेज रफ्तार गाड़ी आई और बैरिकेडिंग को तोड़कर बाहर निकलने की कोशिश करने लगी। मैं कुछ समझ पाता कि इतने में उस गाड़ी से निहंग हथियार लेकर उतरे और मेन गेट पर खड़े पुलिस मुलाजिमों को मारने लगे, मैं एकदम से ऑटो से उतरा, इतने में मेरे आगे खड़े एएसआई हरजीत सिंह पर एक निहंग ने हमला कर दिया। उसके पास तेजधार तलवार थी और उसके पहले ही हमले में उक्त एएसआई का हाथ कट कर नीचे जमीन पर गिर गया। हाथ कटते ही एएसआई नीचे जमीन पर गिर गया। निहंग सिंह ने तुरंत ऊपर से तलवार उसकी छाती में मारने के लिए दोनों हाथ ऊपर उठाए थे कि मैंने तुरंत बिना कुछ सोचे समझे मेरे पैरों के पास पड़ी एक ईंट उस निहंग के सिर पर मारी। इसके बाद वो निहंग मेरे पीछे भागा तो मैं दौड़ लिया। निहंग पीछे आता रास्ते में किसी और पर हमला करने भागा तो मैंने तुरंत ऑटो के ऊपर से घूम कर वापस आकर एएसआई का कटा हाथ उठा लिया। इतने में एएसआई को मंडी बोर्ड में लगा एक मुलाजिम अंदर ले गया था, मैं उस कटे हाथ को लेकर तुरंत अंदर दौड़ा और उस हाथ को एएसआई को पकड़ा कर बाहर आ गया। अभी निहंगों का आतंक चल ही रहा था, मैंने नीचे से कई ईंट-पत्थर उठाकर निहंगों की गाड़ियों पर मारे। शोर मचाया, इतने में कई लोग इकट्‌ठे होते देख निहंग अपनी गाड़ी में बैठ भाग गए।

Related Articles

Leave a Reply

Close