राष्ट्रीय

यूएस प्रेसिडेंट जो बाइडन एवं कमला हैरिस को राहुल गांधी ने कुछ इस तरह दी बधाई

नई दिल्ली : कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने अमेरिका के राष्ट्रपति एवं उप राष्ट्रपति पद की शपथ लेने के बाद जो बाइडन और कमला हैरिस को बधाई दी है। जो बाइडन ने बुधवार को अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति पद की शपथ ली जबकि कमला हैरिस इस पद पर पहुंचने वाली पहली अश्वेत और भारतीय-अफ्रीकी मूल की अमेरिकी नागरिक हैं। राहुल ने अपने एक ट्वीट में कहा, ‘लोकतंत्र के नए अध्याय के लिए मैं अमेरिका को बधाई देता हूं। राष्ट्रपति जो बाइडन और उपराष्ट्रपति कमला हैरिस को मेरी शुभकामनाएं।’

पीएम मोदी सहित कई नेताओं ने दी बधाई
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित कई भारतीय नेताओं ने बाइडन और हैरिस को बधाई दी है। प्रधानमंत्री मोदी ने बाइडन को अमेरिका के राष्ट्रपति के रूप में शपथ लेने पर बधाई दी और कहा कि वह भारत-अमेरिका संबंधों को नई ऊंचाई प्रदान करने के लिए बाइडन के साथ काम करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। प्रधानमंत्री ने कमला हैरिस को भी अमेरिका की उपराष्ट्रपति के रूप में शपथ लेने पर बधाई दी और कहा कि वह भारत-अमेरिका संबंधों को और मजबूत करने के लिए हैरिस से बातचीत करने को लेकर आशान्वित हैं।

अमेरिका के सबसे उम्रदराज राष्ट्रपति हैं बाइडन
बता दें कि 78 वर्षीय डेमोक्रेट नेता बाइडन को मुख्य न्यायाधीश जॉन रॉबर्ट्स ने वाशिंगटन के कैपिटल हिल के वेस्ट फ्रंट में पद की शपथ दिलाई। पारंपरिक रूप से इसी जगह पर अमेरिका के राष्ट्रपति को शपथ दिलाई जाती है। मोदी ने कहा, ‘जो बाइडन को संयुक्त राज्य अमेरिका के राष्ट्रपति के रूप में शपथ लेने पर हार्दिक बधाई। भारत-अमेरिका के बीच रणनीतिक साझेदारी को मजबूत करने के लिए उनके साथ काम करने को उत्सुक हूं।’ प्रधानमंत्री ने सिलसिलेवार ट्वीट कर कहा, ‘अमेरिका का नेतृत्व करने के लिए सफल कार्यकाल की शुभकामनाएं। साझा चुनौतियों का सामना करने और वैश्विक शांति तथा सुरक्षा के लिए हम साथ खड़े हैं।’

चिदंबरम ने दी शुभकामना
कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने कहा ‘मैं आशा करता हूं कि हमारे सभी नेता 78 साल के जो बाइडन को देख रहे होंगे जो अमेरिकी राष्ट्रपति पद की शपथ ले रहे हैं जिन्होंने बंटे हुए देश को एकजुट करने और उसकी आत्मा को बहाल करने का संकल्प लिया है।’उन्होंने अपने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘मैं आशा करता हूं कि हमारे नेता कमला हैरिस को अमेरिका की उप राष्ट्रपति पद की शपथ लेते हुए देख रहे होंगे और विविधिता और बहुलता की सीख ले रहे होंगे। यह भी उम्मीद करता हूं कि भारत अपनी विविधता और बहुलता का हमेशा जश्न मनाएगा।’

Related Articles

Leave a Reply

Close