राष्ट्रीय

मोदी की अध्यक्षता में नीति आयोग की मीटिंग आज, ममता बनर्जी और कैप्टन अमरिंदर बना सकते हैं दूरी

नई दिल्ली I प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार यानी आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए नीति आयोग की गवर्निंग काउंसिल की छठी बैठक में हिस्सा लेंगे। बता दें कि पीएम इस काउंसिल की अध्यक्षता भी करेंगे। पीएम के ऑफिस के मुताबिक, बैठक के एजेंडे में कृषि, बुनियादी ढांचे, इंफ्रास्ट्रक्चर, मैन्युफ्रैक्चरिंग, मानव संसाधन विकास, जमीनी स्तर पर सेवा वितरण और स्वास्थ्य और पोषण जैसे मुद्दों पर विचार-विमर्श होगा।

पीएमओ ने जानकारी दी है कि इस बैठक में पीएम के साथ अन्य राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्य मंत्री और लेफ्टिनेंस गवर्नेंस भी शामिल होंगे।

ममता बनर्जी और अमरिंदर नहीं होंगे शामिल

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी 20 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में होने वाली, नीति आयोग की संचालन परिषद की बैठक में संभवत: शामिल नहीं होंगी। सूत्रों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह अस्वस्थ हैं और उनके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में होने वाली नीति आयोग की संचालन परिषद की बैठक में शामिल नहीं होने की संभावना है। सूत्रों ने यह जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि उनकी जगह इस बैठक में राज्य के वित्तमंत्री मनप्रीत सिंह बादल हिस्सा ले सकते हैं। नीति आयोग की संचालन परिषद की बैठक नियमित होती है। यह सरकार के थिक टैंक की शीर्ष इकाई की छठी बैठक है।

गवर्निंग काउंसिल अंतर-विभागीय और संघीय मुद्दों पर चर्चा करने का मंच है। पीएमओ ने कहा कि इसमें पीएम मोदी, राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों (यूटी) के विधायक, अन्य संघ शासित प्रदेशों के विधायक और लेफ्टिनेंट गवर्नर शामिल होंगे। छठी बैठक पहली बार केंद्र शासित प्रदेश बनने के बाद लद्दाख को एट्री मिलेगी करेगी, जिसमें जम्मू-कश्मीर की भागीदारी भी शामिल है।

इस बार, प्रशासकों की अध्यक्षता वाले अन्य संघ शासित प्रदेशों को भी शामिल होने, विज्ञप्ति पढ़ने के लिए आमंत्रित किया गया है। इस बैठक में शासी परिषद के पदेन सदस्य, केंद्रीय मंत्री, उपाध्यक्ष राजीव कुमार, एनआईटीआई के सदस्य और सीईओ अमिताभ कांत और भारत सरकार के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी शामिल होंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close